इस लड़की से एक मुलाक़ात करने की ख़ातिर IPS ने करवाई टिकट कैंसिल, जानिए कौन है ये लड़की





लखनऊ: कहते हैं प्यार में बहुत ताकत होती है. यह किसी की भी जिंदगी पल में बदल सकता है. वही अगर प्यार पहली नजर में हुआ हो तो बात ही कुछ और है. हमारे भारत देश में लोग धर्म और जात के भेद भाव में यकीन रखते हैं. इसी के चलते लगभग 90% प्रेमी प्रेमिका उनकी नफरत की आग में झुलस जाते हैं और हार मान कर दम तोड़ देते हैं. मगर यहीं कुछ ऐसे लोग भी हैं, जिन्हें उनका सच्चा प्यार एक ना एक दिन जरुर मिल ही जाता है. आज हम आपको एक ऐसे ही प्रेमी जोड़े के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी लव स्टोरी इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है.

भारत देश के 3 राज्यों में अपने 27 बेहतरीन नाटकों के 280 से भी अधिक शो कर चुकी सीमा मोदी को उत्तर प्रदेश की बहु रानी के रूप में जाना जाता है. सीमा को थिएटर और म्यूजिक में काफी दिलचस्पी है इसलिए वह अपना पूरा फोकस अपने थिएटर आर्ट पर कर रही हैं. हाल ही में सीमा की शादी एक IPS ऑफिसर से हुई इसी के बारे में उन्होंने हमारी न्यूज़ टीम से अपनी कहानी को साझा किया. सीमा ने बताया कि उसके पति किसी रिलेटिव की शादी में आए थे और उससे एक बार मिलने के लिए अपनी ट्रेन की टिकट तक उन्होंने कैंसिल करवा दी थी.

सीमा की बेसिक पढ़ाई लिखाई झारखंड से हुई है उन्होंने b.a. तक की पढ़ाई हजारीबाग से की है. आपको बता दें कि झुमरीतलैया को बेहतरीन फिल्मों और गानों के लिए जाना जाता है. हालांकि कुछ लोग झुमरीतलैया शब्द को मजाक में उड़ा देते हैं परंतु बहुत कम ही लोग इस जगह की सुंदर वादियों से वाकिफ हैं. 1955 में सीमा आईपीएस पति मोहन मोदी अपनी शादी के लिए रिश्तेदार के घर आए थे. परंतु उन्हें पहली नजर में ही वह लड़की पसंद नहीं आई. जब वे स्टेशन पर पहुंचे तो उन्हें पता चला कि उनकी ट्रेन 6 घंटे लेट है. सीमा का घर के स्टेशन के पास ही था तो वह अपने मामा को साथ लेकर उनके घर आ पहुंचे. सीमा ने बताया कि उस वक्त वह बेहद चंचल एवं शर्मीले स्वभाव की थी और उसका पूरे घर का माहौल म्यूजिक में रंगा था.

सीमा ने बताया कि अचानक मेहमान आने के बाद उसकी मानस को पकोड़े बनाने के लिए रसोई घर जाने की हिदायत दी. परंतु सीमा ने हंसते हुए मां को मना कर दिया और कहा कि , “आप पकौड़े बनाओ और मैं यहां मेहमान नवाजी करूंगी”. जब मेहमानों का पेट भरने लगा तो वह खाने से मना करने लगे परंतु सीमा उनकी चुटकी लेते हुए बोला कि, ” मां अब और मत बनाओ मेहमान मना करने वाले हैं, सब हंसने लगे और मेरी मां ने मुझे डांटा भी”. इसके बाद सीमा के आईपीएस पति ने कहा कि, मुझे लगता है कुछ दिन यहीं रुक जाऊं” जिस पर सीमा के पापा ने कहा, रोका किसने है यह तो तुम्हारा ही घर है बेटा. ऐसा जवाब सुनकर उन्होंने तुरंत टिकट कैंसिल करवा दी.

सुबह सीमा ने सब की फरमाइश पर “मोरा मन दर्पण कहलाए” भजन गया जिसके बाद सब ने उनकी काफी तारीफ की. सीमा के अनुसार जाने से पहले मोहन ने उसके मामा जी को कहा कि उसकी लाइफ से यह 24 घंटे सबसे अच्छे बीते हैं फिलहाल उसे मजबूरी के कारण ड्यूटी पर जाना पड़ रहा है मगर वह जल्द ही सीमा से शादी करने के लिए वापस लौटेगा. 2 महीनों के बाद सीमा और मोहन की शादी पक्की हुई लेकिन शादी के कुछ दिन पहले ही मोहन का लेटर मिला की छुट्टी नहीं मिल सकेगी जिसके कारण उन्होंने सीमा। के परिवार को मुरादाबाद आने के लिए कहा. ऐसे में मुरादाबाद शादी करना सीमा के लिए एक नया अनुभव था. सीमा के अनुसार आज भी उसको ऐसा लगता है जैसे वह अपनी बरात लेकर खुद अपने पति के पास पहुंची थी.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here